जिले के बारे में

जामताड़ा जिला दुमका जिले को विभाजित करके बनाया गया एक नया जिला है। यह उत्तर में देवघर जिले से, पूर्व में दुमका और पश्चिम बंगाल, दक्षिण में धनबाद और पश्चिम बंगाल तथा पश्चिम में गिरिडीह से घिरा हुआ है| इसका कुल क्षेत्रफल 1,811 वर्ग किमी तथा जनसँख्या 7,91,042 (भारत की जनगणना, 2011 के अनुसार) है। इस जिला में एक अनुमण्डल (जामताड़ा) और छह प्रखण्ड हैं- कुंडहित, नाला, जामताड़ा, नारायणपुर, कर्माटांड और फतेहपुर।

यह जिला छोटानागपुर पठार के निचले हिस्से में स्थित है और इसका अक्षांश और देशांतर क्रमशः 230-10 ‘से 240-5’ उत्तर और 860-30 ‘से 870-15’ पूर्व है।

जामताड़ा जिले का इतिहास संथाल परगना के इतिहास से भिन्न नहीं है|वर्ष 1855 में संथाल परगना को भागलपुर और बीरभूम जिलों के हिस्सों को मिलाकर बनाया गया था। इस पूरे क्षेत्र को 1765 में दीवानी की धारणा पर अंग्रेजी में जंगलेटेरी (जंगल तेराई) कहा जाता था जिसमे वर्तमान के संथाल परगना, हजारीबाग, मुंगेर और भागलपुर जिला शामिल हैं|

जामताड़ा जिला झारखंड राज्य में जनसंख्या (7,91,042) के आधार पर 19 वीं एवं क्षेत्रफल (1811sq.km.) के आधार पर 21 वीं स्थान पर है|

जिले की अर्थव्यवस्था मुख्य रूप से खेती एवं संबंधित कार्य पर निर्भर करती है। कुल श्रमिकों में से 64% से अधिक प्राइमरी सेक्टर में लगे हुए हैं।

जिले के गांवों में से सुद्रक्षिपुर(कुंडित ब्लॉक) का सबसे बड़ा क्षेत्र है (1109.69 हेक्टेयर) और सरोदाबार्चक (कर्माटांड विद्यासागर ब्लॉक) का सबसे छोटा क्षेत्र (1.56 हेक्टेयर) है।

जलवायु

पश्चिम बंगाल के निकट होने और पहाड़ी क्षेत्रों के पास स्थित होने के कारण इसकी जलवायु राज्य के बाकी हिस्सों से थोड़ी भिन्न है। यहाँ हर वर्ष औसतन 1500 मिमी वर्षा होती है जिसमे सबसे ज्यादा बारिश वर्षा ऋतु के दौरान होती है। सर्दियों के मौसम के दौरान तापमान 10 से 16 सेंटीग्रेड के बीच होती है जबकि गर्मी के मौसम के दौरान यह 22 से 40 सेंटीग्रेड के बीच होती है|

जनसंख्या विवरण

क्र.सं. प्रकार घरों कि संख्या कुल जनसंख्या कुल जनसंख्या पुरुष कुल जनसंख्या महिला अनुसूचित जाति जनसंख्या अनुसूचित जनजाति की जनसंख्या
1. कुल 155275 791042 404830 386212 72885 240489
2. ग्रामीण 140311 715296 365043 350253 63026 236962
3. शहरी 14964 75746 39787 35959 9859 3527